Latest Posts

गोखरू: पुरुषो की शारीरिक शक्ति बढ़ाने की अचूक आयुर्वेदिक औषधि – Gokharu Benefits, Uses and Side effects in hindi

गोखरू

गोखरू का परिचय-

दोस्तों गोखरू एक ऐसी आयुर्वेदिक दवा है, जिसका इस्तेमाल बहुत समय से तंदुरस्ती के लिए किया जाता रहा है. क्या आपको पता है की गोखरू ओषधि का इस्तेमाल आयुर्वेद चिकित्सा में गैस की समस्या और पित्त समस्या यानि के मतली को नियंत्रण करने के लिए किया जाता है. यह एक ऐसी ओषधि है, जिसका हर एक अंग उपयोग में आता है. गोखरू ओषधि के हर भाग का प्रयोग कई बीमारियों को ठीक करने में होता है. गोखरू ओषधि से तैयार हुई हर्बल दवाइयाँ सिर्फ साधारण बीमारियों के लिए ही नहीं, अपितु यौन समस्याओं और निःसंतानता जो कभी माँ नहीं बन सकती उनको ठीक करने में भी लाभदायक होती हैं. गोखरू ओषधि का उपयोग पेशाब से संबंधित समस्याओं और गैस की समस्या लिए भी ज्यादातर उपयोग किया जाता है. गोखरू ओषधि बॉडी की सूजन को कम करती है. दशमूल एक दवाई है उसको बनाने में भी गोखरू की जड़ का उपयोग किया जाता है. गोखरू के कई फायदे-नुकसान होने के साथ ही कुछ निर्देशक सिद्धांत भी हैं, गोखरू ओषधि का पालन आयुर्वेदिक डाक्टर की निगरानी में ही करना चाहिए. तो अब बात करते हैं गोखरू ओषधि के फायदे और नुकसान के बारे में. तो चलिए दोस्तों शुरू करते है आज की ये पोस्ट।

 

गोखरू के चमत्कारी लाभ-

गोखरू पुरुषों में बढ़ाए लो स्पर्म काउंट और पुरषो को अंदरूनी समस्याओं से दिलाए छुटकारा-   

गोखरू औषधि किसी चमत्कार से कम नहीं है ,इसके सेवन से आपके शादी शुदा जीवन की ज्यादातर परेशानियाँ दूर होती है। जो आपके लाइफ को खुशहाल कर देंगी। आपको बता दे दोस्तों जो पुरुष अपनी अंदरूनी समस्याओं की वजह से निःसंतानता रहते है और लो स्पर्म काउंट को ठीक नहीं कर पाते तो दोस्तों उनके लिए इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए गोखरू ओषधि रामबाण दवा की तरह काम करता है. दोस्तों जो लड़के लो स्पर्म की समस्या की वजह से पिता नहीं बन पाते हैं, उन पुरषो को गोखरू चूर्ण को दूध के साथ लेना चाहिए .दोस्तों आपको बता की शतावर और गोखरू को एक साथ मिलाकर लेने से नपुंसकता या बाँझपन की समस्या खत्म हो जाती है. दोस्तों गोखरू ओषधि में स्पर्म की क्वालिटी और स्पर्म की संख्या बढ़ाने का गुण भी होता है गोखरू पुरुषों के शरीरिक बल में भी वृद्धि भी करता है. और उनकी सेक्सुअल पॉवर को भी बढ़ाता है.गोखरू लड़को के प्रजनन की अंगों में मजबूती के लिए है। दोस्तों गोखरू बांझपन को दूर करता है। विशेष रूप से पुरुष और महिलाएं जिनकी सेक्सुअल लाइफ और सेक्सुअल हेल्थ में ज्यादा परेशानी हैं उनके लिए ये लाभकारी है।गोखरू की तासीर गर्म होती है। गोखरू के फल पर बहुत सरे कांटे लगे होते हैं और यह काफी छोटा होता है।


पथरी को करें जड़ से खत्म-

पथरी की समस्या अब लगभग हर किसी को हो गई है। उसमे चाहे बच्चा हो जवान हो बूढ़ा हो सभी पथरी के दर्द से जूझ रहे है ,आजकल ज्यादातर खाने के ज़रिये या अशुद्ध पानी पिने की वजह से या कोई भी कारण से हर किसी की किडनी में पथरी हो ही जाती है.और इसका दर्द बहुत खतरनाक होता है. जो बर्दाश्त के बाहर होता है. दोस्तों इस दर्द से छुटकारा दिलाने के लिए गोखरू से बनी औषधि बहुत असरदार है   गोखरू ​किडनी पथरी के लिए बहुत ही फायदेमंद है।

 

गोखरू से मिलता है सिर दर्द में आराम-

सिर के दर्द की समस्या आम है आज कल तनाव के कारण लगभग हर कोई सिर के दर्द की समस्या से झूझ रहा है. दोस्तों अगर आप सुबह-शाम गोखरू ओषधि के काढ़े का इस्तेमाल करें, तो इसके इस्तेमाल से आप पित्त की बीमारियों से दूर रहेंगे और इससे सिर दर्द दूर रहता है .


गोखरू दमा जैसी बीमारियों में है फायदेमंद-

इस प्रदूषण के दौर में बहुत ज्यादा संख्या में लोग दमा जैसी बीमारी का शिकार बन रहे है . तो इस प्रदूषण के दौर में अगर आप गोखरू ओषधि से बनी दवाइयों का इस्तेमाल करते है तो आप दमा जैसी बीमारियों से जल्द से जल्द छुटकारा पा लोगे. आयुर्वेदिक गोखरू ओषधि के चिकित्सक गोखरू ओषधि के साथ अंजीर का सेवन करने की भी सलाह देते है, दोस्तों अगर आप अश्वगंधा और गोखरू दोनों को मिलाकर सेवन करते है तो दमा की बीमारी में बहुत जल्द आपको आराम मिलेगा. और दोस्तों शहद के साथ गोखरू ओषधि का इस्तेमाल करने से भी दमा के मरीज ठीक हो जाते हैं.

 

यह भी पढ़ें – LockUp में अली मर्चेंट और सारा खान टकराये आमने सामने, फिर जो हुआ जानिए आगे..

 

गोखरू डायबिटीज के लिए है लाभकारी-

गोखरू का प्रतिदिन उपयोग करने से ब्लड शुगर लेवल नियंत्रण हो सकता है। 

इससे डायबिटीज का खतरा बहुत कम रहता है। डायबिटीज में खाने पिने बहुत ख्याल रखना चाहिए. और इस स्थिति में गोखरू का इस्तेमाल कर के डायबिटीज को नियंत्रण कर सकते हैं.

 

स्किन के लिए बेहद असरदार है गोखरू-

एक्‍जिमा के कारण जब स्‍किन पर खुजली होने लगती है तो ऐसे में गोखरू काफी असरदार माना जाता है . एक्जिमा एक प्रकार की इंफ्लेमेटरी त्वचा की समस्या है. दोस्तों गोखरू के फल में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं, जो एक्जिमा के खतरे को खत्म कर देता है.दोस्तों गोखरू का लोशन बनाकर स्किन पर लगाने से स्किन की बीमारियाँ जड़ दूर हो सकती हैं.

 

दस्त रोकने में भी उपयोगी है गोखरू-

दोस्तों अगर बदहज़मी की वजह से या बाहर का खाना या फिर तेज़ मसालेदार खाना खाने के बाद दस्त हो रहे है तो ऐसे में गोखरू बहुत ही असरदार है। दोस्तों 500 mg गोक्षुरफल चूर्ण को मट्ठे में मिलाकर प्रतिदिन दो बार खिलाने से अतिसार एवं आमातिसार में फायदा मिलता है।

 

गोखरू का काढ़ा हाज़मे में है लाभकारी-

गोखरू का काढ़ा बनाकर पिलाने से जिसको बदहज़मी की शिकायत रहती है उस बदहज़मी को दूर करता है गोखरू का काढ़ा। 30 से 40 mg  गोखरू काढ़ा में 5 ग्राम पीपल के चूर्ण को साथ में मिलाकर दिन में थोड़ा-थोड़ा पीने से पाचन-शक्ति बढ़ती है। 

 

बुखार में असरदार है गोखरू-

अगर मौसम के बदलने के साथ-साथ बार-बार बुखार हो रहा है तो आपके लिए गोखरू का इस्तेमाल करना बहुत लाभदायक है। दोस्तों 15 ग्राम गोखरू पञ्चाङ्ग को 250 mg पानी में उबालकर, काढ़ा बना लीजिए और काढ़े को दिन में चार बार पिलायें। इससे बुखार में तेज़ी से मरीज़ को आराम मिलेगा।

 

गोखरू का सेवन करने की विधि-

गोखरू चूर्ण 3-6 ग्राम एवं गोखरू काढ़े का 20 से 40 ml इस्तेमाल कर सकते है। इसके साथ आप गोखरू के पाउडर को पानी में उबालकर भी पी सकते हैं. गोखरू के अर्क का इस्तेमाल आप  कर सकते हैं. और दोस्तों गोखरू का उपयोग आप त्वचा के लिए भी कर सकते है.

आपको बता दे अलग अलग बीमारी के लिए गोखरू का इस्तेमाल करने का तरीका भी अलग है और हम पहले भी इस पोस्ट में तरीका बता चुके है। लेकिन अगर आप किसी बड़ी बीमारी के इलाज के लिए गोखरू का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आयुर्वेदिक डाक्टर की सलाह ज़रूर ले लीजियेगा ।

Read More – अश्वगंधा खाने के आश्चर्यजनक फायदे- Ashwagandha Uses, Benefits & much more


गोखरू औषदि के दुष्प्रभाव-

गोखरू लाभकारी होने के साथ साथ खतरनाक भी साबित हो सकता है. दोस्तों गोखरू का लगातार इस्तेमाल करने से लड़कों में प्रोस्टेट का साइज़ बढ़ सकता है। ये कहावत तो अपने सुनी होगी की हर सिक्के के दो पहलू होते है, अगर किसी चीज़ के फ़ायदे होते है. तो नुकसान भी हो सकते है। गोखरू के फ़ायदे तो बहुत सारे हैं ही, लेकिन दुष्प्रभाव भी कम नहीं है जो अधिक उपयोग या फिर दुरुपयोग की वज़ह से हो सकते हैं. आपको बता दे की एक दिन में 3 ग्राम से ज़्यादा गोक्षुर का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। गोखरू की खुराक बीमारी और स्वास्थ्य की स्थिति पर भी निर्भर करती है. ज्यादा अधिक समय के लिए इसका इस्तेमाल पौरुष ग्रंथि के लिए नुकसानदायक हो सकता है। 

  • गोखरू का ज्यादा इस्तेमाल करने से पीलिया और गुर्दों की बीमारी हो सकती है। पीलिया ग्रस्त मरीज़ो को गोक्षुर बहुत थोड़ी सी मात्रा में ही लेना चाहिए।
  • इसका ज़्यादा इस्तेमाल करने से पाचन शक्ति और नींद पर भी बुरा असर पड़ सकता है।
  • गोखरू महिलाओ को हर महीने आने वाले धर्म चक्र पर भी बुरा असर डाल सकता है। इसी वजह से गोखरू का इस्तेमाल सावधानी से और डॉक्टर की सलाह से ही करना चाहिए। गोखरू को गोक्षुर चूरन और कैप्सूल के रूप में भी आप ले सकते हैं।
  • स्तन व पुरस्थ ग्रंथि कैंसर मरीज़ को इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • गर्भावस्था और जब छोटा बच्चा माँ का दूध पीता हो तो माँ को इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • जिन बच्चों को बहुमूत्र यानि के शुगर रोग या फिर ब्लूडप्रेशर की शिकायत रहती है, तो उनको बिना डाक्टर कि सलाह के गोखरू का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए

 

तो दोस्तों क्या आपने पहले कभी गोखरू का नाम सुना था या कभी इसका उपयोग किया था हमे कमेंट करके ज़रूर बतायेगा। यह एक बेहद ही दुलर्भ जड़ी-बूटी है. जो बहुत ही लाभदायक है। ऐसी ही पोस्ट पाने के लिए हमारी इस पोस्ट को लाइक करें और अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करें.

यह भी पढ़ें-

अश्वगंधा खाने के आश्चर्यजनक फायदे- Ashwagandha Uses, Benefits & much more | afactshindi

9 thoughts on “गोखरू: पुरुषो की शारीरिक शक्ति बढ़ाने की अचूक आयुर्वेदिक औषधि – Gokharu Benefits, Uses and Side effects in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.